Gajendra Solanki (गजेंद्र सोलंकी)

Portrayal of wrath against viciousness through melodic poetry is the accomplishment of none other than Mr. Gajendra Solanki. He is known for such construction of thoughts. Mr. Solanki has written his energetic creations in such a way that no social and familial aspects present in the society remain untouched, and he holds the supremacy over the whole class of the people of his type. It is his talent that has earned him recognition not only in India but also in those countries where Hindi-speaking people reside. His every creation alludes to the love he cherishes for his country. The thing that distinguishes him from others is that he presents many ideals and moral values through his work and he himself adopts them in his life. He has been successful not only as a poet but also as an anchor. We wish him a grand success in the offing.

ओज कविता में विसंगतियों के प्रति आक्रोष वो भी एक मधुर स्वर में , जब भी आप कभी मंच  के माइक से ऐसे व्यक्ति को सुन रहे हों तो समझ लीजिएगा कि वो गजेंद्र सोलंकी हैं ओज कविता के साथ सामाजिक एवं पारिवारिक सरोकारों पर भी जिस शख्स ने  अपनी लेखनी से लोहा मनवाया हो ऐसे नाम गिनती के ही हैं उनमें सबसे ऊपर की पायदान पर अगर कोई खड़ा नज़र आता है तो वो गजेंद्र सोलंकी है पूरी दुनिया में जहाँ जहाँ हिंदी बोली और समझी जाती है  या यूँ कहें कि  जहाँ जहाँ हिन्दुस्तान के लोग प्रवासी के रूप में रहते हैं  उन अधिकतर देशों में गजेंद्र जी की अलग पहचान है उनके तन मन के कण कण में देश प्रेम भरा हुआ है आधुनिक संदर्भ में यदि हम कविता लेखन की बात करें तो शायद ही कोई ऐसा विषय हो जो उनकी लेखनी से अछूता   रह गया हो कवि के साथ ही वह हिंदी कविसम्मेलन मंच के जो गिने चुने संचालक है उनमें गजेंद्र जी का नाम शीर्ष पर आता है कवि के रूप में उन्होंने न सिर्फ कविता को मंचों पर पढ़ा बल्कि अपने जीवन में भी उन्हीं आदर्शों को उतारा जिनका समावेश उनकी कविताओं में निरन्तर होता है आने वाली पीढ़ी के लिए  वे  हमेशा से ही प्रेरणा श्रोत रहे हैं और रहेंगे ईश्वर आपको सफलता के और नए आयामों तक पहुंचाए

Book A Show!