Surendra Sharma - Hasya Kavi Sammelan Organizers

Surendra Sharma (सुरेन्द्र शर्मा )

Surendra Sharma- Hindi Kavi Sammelan has seen a time when verse poetry was in vogue. It was the time when the entire humanity was striving hard to achieve materialistic progress and development at the cost of social values. Instead of appreciating emotions and feelings, people were running after bare imaginations. But with the change in time, there came onto surface a new flavour, which became the piece of presentation in all venues. It is the extreme contribution of Mr. Surendra Sharma who developed this new concept and gave it a name “Chaar Lina” or four liners. Although it shows no wave of emotion on his face when he presents his creations, his creations deep penetrate the heart and soul of listeners. Mr. Surendra Sharma timely appearances as various characters in TV shows and movies ensured his popularity at the widest scale, nationally and internationally. It is through his contribution that Kavi Sammelan has got wider recognition among those who were not aware of it, and particularly his world-famous Four Liners. To Organize a Hasya Kavi Sammelan Contact Us.

एक वक़्त तक हिंदी कविसम्मेलन में छंद बद्द कविताओं का बोलबाला रहा लेकिन वक़्त बदला तो मंच का फ़्लेवर भी बदलने लगा ये वो दौर था जब दुनिया विकासवाद की दौड़ में समाज और संस्कारो के सींकचों को तोड़ रही रही थी लोग  भावों की गंभीरता से निकलकर ख्वाबों की सतह पर सरपट दौड़ना चाहते थे उसी उसी दौर में एक नाम चार लाइना लेके आया , सुरेन्द्र शर्मा एक भावहीन चहरे के साथ कुछ ऐसा लेके आये जो बड़े सहज भाव से दिल में उतर जाते थे टीवी और फिल्मों में निभाए गए उनके छोटे छोटे किरदारों के माध्यम से उनकी लोकप्रियता दिनों दिन बढ़ती गई एक वक़्त ऐसा आया जब सुरेन्द्र जी कविसम्मेलन का पर्याय बन गए जो लोग कविसम्मेलन को नहीं जानते थे वे सुरेन्द्र जी की चार लाइनों के दीवाने थे आज भी सुरेन्द्र जी कविसम्मेलन में सबसे लोकप्रिय नाम है उनके नाम से तारीखे बदलती है लोग भोर की पहली किरण तक उनको सुनने के लिए हज़ारों की संख्या में बैठे रहते हैं युँ तो हिंदी मंच लिकप्रिय कवियों की एक लम्बी फहरिस्त है  लेकिन सुरेन्द्र जी की लोकप्रियता का आलम ये है कि वो देश के किसी कोने में किसी अंजान सड़क पर निकल जाएँ तो उनको अनगिनत पहचानने वाले मिल जायेगे  उनका हर अंदाज़ नए कवियों के लिए प्रेरणा है उनका ड्रेसिंग सेन्स नए कवियों में जिज्ञासा का विषय रहता है वकौल कुँवर बैचेन वो जितने अच्छे कवि हैं  उससे कहीं ज़यादा अच्छे इंसान हैं more about Mr Sharma

Book A Show!